Google AMP क्या है? AMP के फायदे व नुकसान

Google तथा Twitter के द्वारा निर्मित Accelerated Mobile Page या Google AMP क्या है? तथा AMP की कौन-कौन सी कमियां तथा अच्छाइयां है. इन सभी चीजों के बारे में आज हम जानेंगे. जैसा कि आप सभी जानते हैं की आज के समय में मोबाइल फोन का इस्तेमाल काफी ज्यादा बढ़ चुका है. और सभी लोग अपने मोबाइल से ही जानकारियां ढूंढते हैं. और भारत के कई इलाकों में अच्छी इंटरनेट स्पीड ना होने के कारण कई लोग अधिकतर जानकारियों से वंचित रह जाते हैं. क्योंकि उनका Website खुलने का Load time काफी ज्यादा Slow होता है. इन्हीं सभी कारणों को ठीक करने के लिए Google के द्वारा AMP का निर्माण किया गया है. ताकि जितने भी वेबसाइट मोबाइल पर खुलते हैं, उनकी Speed aur UI बिल्कुल ही Fast हो जाए. और Mobile Users को कोई परेशानी Face न करनी पड़े.

amp kya hai in hindi

जैसा कि एक शोध के मुताबिक पता चला है कि दुनिया में लगभग 79% लोगों के पास Mobile Phone उपलब्ध है. और उसमें से 58% लोग अपने मोबाइल में Internet का इस्तेमाल करते हैं. और इन्हीं कारणों को मध्य नजर रखते हुए सरकार ने भी इंटरनेट की सुविधा को भी काफी ज्यादा आसान और किफायती बना दिया है. इन सभी कारणों के कारण मोबाइल तथा इंटरनेट की Usage में दिन प्रतिदिन और भी वृद्धि होती जा रही है.

>Easily Online Paise Kaise Kamaye

और जैसा कि आप जानते हैं कि Google इन सभी बातों से अच्छी तरह से रूबरू है. और वह दिन रात अपने User Experiance को बेहतर करने में लगा हुआ है. आपने कभी ना कभी Search Engine Result Pages मे गौर किया होगा कि जिन Sites के ऊपर AMP का निशान लगा होता है. वो Websites अन्य Websites के मुकाबले काफी कम समय में खुल जाती है. ऐसा क्यों होता है, तो चलिए जानते हैं की AMP क्या है.

AMP क्या है?

AMP एक Open Source Framework है. इसका निर्माण Specially मोबाइल पर खुलने वाली Websites के लिए किया गया है. यह किसी भी Website की गति तथा Full UI को एक Click में बदलने की क्षमता रखता है. इसकी मदद से किसी भी Website को Mobile Frendly बड़े ही आसानी से बनाया जा सकता है. AMP Sites को Load करने में इतना कम समय लगाता है. क्योंकि AMP किसी भी Unwanted CSS, JAVASCRIPT, HTML को लोड नहीं करता है. और AMP Connected Sites में Cache Memory भी Present होती है जो कि Site लोड होने के बाद भी वह अपने डेटाबेस में उन Memories को सेव करके रख लेती है. और इसी कारण से वेबसाइट की स्पीड और भी बढ़ जाती है.

तो जैसा कि हमें यह पता चला की AMP क्या है और AMP, Sites के लिए कितना महत्वपूर्ण होता है. और इस प्रकार AMP, Websites को Fast और Simple बनाता है. तो चलिए अब हम मिलकर जानते हैं की AMP के फायदे और नुकसान कौन-कौन से हैं.

AMP के कुछ फायदे और नुकसान से तो अधिकतर लोग वाकिफ है. तो चलिए जानकारी के लिए हम पहले जान लेते हैं AMP के Top 5 Pros और Cons को :-

# Top 4 Pros Of Accelerated Mobile Pages

1. Mobile Ranking में बढ़ोतरी 

वैसे तो गूगल का Directly यह कहना है, कि Website मे AMP लगाने से Search Engine Optimization (SEO) पर कोई Impact  नहीं पड़ता है. मगर Indirectly इस बात को गूगल भी मानता है, की वेबसाइट में AMP का प्रयोग करने से Seo पर काफी ज्यादा Impact पड़ता है. क्युकी जब भी किसी वेबसाइट पर AMP का प्रयोग किया जाता है. तब उस Site का Opening टाइम मोबाइल में Rocket की तरह Optimize हो जाता है और Website सर्च इंजिन्स में बहुत ही आसानी से रैंक कर पाता है.

2. Boost In Website Loading Time

जैसा कि आप सभी जानते हैं की AMP को Specially Mobile  के लिए Design किया गया है. इसलिए AMP सारे फालतू के Files को Ignore करके बस Simple AMP Theme और Required Coding Files को ही Load करता है. ताकि Website के Visitors को Website को खोलने में बिल्कुल भी समय ना गवाना पड़े. और Website Owner का Website के Visitors के साथ अच्छा Interaction बना रहे. और Slow Internet Connection वाले Visitors को भी निराश होकर दूसरे Website पर जाना ना पड़े.

3. Improves Server Data Exchange

कई बार ऐसा होता है कि Website के Server पर Load काफी ज्यादा बढ़ जाता है. और हमारा वेबसाइट Crash कर जाता है.  उन सभी Problem से भी AMP Website को पूरी तरह से छुटकारा दिलाता है. AMP लगाने के बाद Website जब जल्दी  से Load हो जाता है, तब Server से Data Transfer काफी ज्यादा आसान और Fast हो जाता है. जिसके कारण Website के सारे Media Files  को Load होने में कोई भी परेशानी नहीं होती है.

4. CTR में Boost

AMP Websites के Photos को किसी भी Normal Website के Photos से ज्यादा Priority दी जाती है. इसलिए जब भी कोई Search Engines में किसी भी टॉपिक के बारे में रिसर्च करता है. तो ऊपर में Accelerated Mobile Pages की कुछ related और Suggested Images दिखाई जाती है. और जब भी यूजर किसी वेबसाइट के image पर Click करता है. तो वह Directly उस वेबसाइट के URL पर Redirect कर दिया जाता है. इससे Website पे Traffic, Seo से साथ साथ Suggested Images से भी आता है. और वह वेबसाइट की Click Through Rate को बढ़ाने में काफी ज्यादा मदद करता है.

# Top 4 Cons Of Accelerated Mobile Pages

1. Ad Revenue मे घाटा होना

जिन Websites में AMP लगा होता है. उसमें गूगल तथा दूसरी कंपनी के Multiple Ads को इस्तेमाल करने में काफी ज्यादा परेशानी Face करनी पड़ती है. तथा अगर आप अपने वेबसाइट पर Multiple Ads इस्तेमाल कर भी लेते हैं फिर भी काफी सारे Ads को AMP के द्वारा ब्लॉक कर दिया जाता है. क्योंकि अगर आपके Website पर Ads ज्यादा Quantity में हुए तो आपके Website का Loading स्पीड बढ़ जाएगा और फिर AMP, Website के लोडिंग Speed को कम नहीं कर पाएगा. इसी कारण से आपके वेबसाइट पर लगे हुए Ads की कटौती की जाती है. और इसी कारण से आपको अपने Ads की Revenue मे थोड़ा घटाब देखना पड़ सकता है.

2. AMP Implementation मे दिक्कत (Excluding WordPress)

इसमें तो कोई दुमत नहीं है, की AMP Website की Pages को Fast करता है मगर AMP को Coding के द्वारा वेबसाइट में Implement करना काफी ज्यादा मुश्किल और कठिन है. क्युकी अगर हमारे पास Coding की अच्छी खासी Knowledge है, फिर भी हमें AMP के Guidelines को मद्येनजऱ रखते हुए ही Code लिखना और वेबसाइट पर Impement करना होता है.

एक तरफ जहा Coding के द्वारा AMP को अपने Website पर लगाना काफी ज्यादा मुश्किल होता है. वही दूसरी तरफ WordPress और Joomla जैसे Plateforms पर हम AMP को बहुत ही आसानी से मात्र 1 Plugin Install कर के अपने वेबसाइट पर लगा सकते है.

3. Analytics Checking में दिक्कत 

AMP लगाने के बाद जो सबसे बड़ी दिक्कत Publishers को Face करनी पड़ती है, वह है Analytics Checking. Google, Analytics को Data को Track करने के लिए Google को Different टैग्स की जरुरत होती है. तथा Website Devolopment के वक्त जो Tags Websites में Google Analytics के द्वारा डाले जाते है वो AMP Supported नहीं होते. इसी कारन से AMP वाले वेबसाइट को Track करना थोड़ मुश्किल होता है. और उसमे आपको Accurate Information provide नहीं की जाती है.

4. Subscription And Popup Blocker

AMP वाले Websites पर सभी सब्सक्रिप्शन और Popup Ads को AMP द्वारा Disable कर दिया जाता है. जिसके कारण कोई भी Popup और Floating सोशल Sharing Iconsऔर Buttons Website पर display नहीं किये जाते है. जिसके कारण आपके वेबसाइट के Subscriptions और Ads की Revenue में भी कमी आ सकती है.

तो आज के इस लेख को हम यही पर समाप्त करते है. उम्मीद करता हु की आपको हमारे इस लेख “AMP क्या है” से Amp के बारे में महत्वपूर्ण जानकारिया सीखने को मिली है. हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है. की हमारे Website पर Post किये गए हर लेख से आपको अपनी त्रुटि का पूर्ण उत्तर मिले.

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी तो अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ इस लेख को जरूर से शेयर कीजिएगा. ताकि आपके Friends और Relatives भी AMP के बारे में विस्तृत रूप से जान पाए. और अगर – AMP क्या है लेख से Related कोई भी सवाल या त्रुटि आपके मन में हो तो आप बेझिझक हमसे Comment में पूछ सकते हैं. हम आपके सवालो का जबाब जल्द से जल्द देने की पुरी कोशिश करेंगे।

अपना अमूल्य समय हमारे लेख पर बिताने के लिए शुक्रिया।

 

2 COMMENTS

  1. My partner and I stumbled over here from a different page and thought I might as well check things out. I like what I see so now i’m following you. Look forward to looking at your web page again.|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here